ऑस्ट्रेलिया के द्वारा दिया गया 289 रनो का लक्ष्य के पीछा करने उतरी भारतीय टीम के शुरुआत काफी खराब रही ! शुरुआत में सिर्फ चार रनो पर ही तीन मुख्य विकेट शिखर धवन, विराट कोहली, और रायडू गिर गए !



har ke wajah

इसके बाद भी  रोहित शर्मा ने हार नहीं मानी ! अपनी क्षमताओं का परचम लहराते हुए वे इस बड़े लक्ष्य का पीछा करते रहे लेकिन अंत में उन्हे भी हारना पड़ा ! वे स्टोइनिस के गेंद पर अपना कैच मैक्सवेल को दे बैठे जिसके बाद से भारत के टीम का हर का रास्ता साफ़ नज़र आने लगा !


भारतीय टीम के हार की वजह 

आपको बात दे की जब मात्र चार रनो पर भारत की 3 विकेट गिर चुकी थी तब धोनी क्रीज़ पर आये और रोहित शर्मा के साथ मिलकर अच्छी पार्टनरशिप के लेकिन वे भी 51 रनो के बाद बहरानड्रॉफ का शिकार बन गए जिसके बाद लगातार भारतीय टीम इस स्कोर के धार में फंस कर रह गई ! आपको बता दें की रोहित शर्मा  हर तरह से लगातार कोशिश करते दिखे लेकिन विकेट के दूसरी तरफ से कोई भी बल्लेबाज उनका साथ नहीं दे पा रहा था ! लगातार भारत के विकेट्स गिर रहे थे जिसके बवजह से भारत का required रन रेट 15 से भी ज्यादा हो गया , तब रोहित शर्मा ने तेज पारी खेलने की कोशिश में 129 गेंद पर 133 रन बनाकर  स्टोइनिस के गेंद पर मैक्सवेल के हाथों में अपना कैच दे  बैठे ! 



रोहित का ऐतिहासिक शतक 

इसी शतकीय पारी के साथ रोहित ने पूर्व कैरीबियाई बल्लेबाज विव रिचर्ड्स का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। विव रिचर्ड्स ने ऑस्ट्रेलिा के खिलाफ तीन वनडे में तीन सेंचुरी लगाई थी। सेंचुरी पूरी करने तक रोहित शर्मा के बल्ले से 7 चौके और 4 छक्के निकले। रोहित ने 110 गेदों पर अपना शतक 22वां शतक पूरा किया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोहित का यह चौथा शतक है। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और निर्धारित 50 ओवर मे पांच विकेट खोकर 288 रन बनाए। जवाब में टीम इंडिया ने 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 254 रन बना सकी। टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा के शतक पर पानी फिरा।